Warning: file_put_contents(assets/counter.txt): failed to open stream: Permission denied in /var/www/html/functions.inc.php on line 73
KIOCL Ltd.

अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक


श्री टी सामिनाथन

अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक

श्री टी सामिनाथन ने केआईओसीएल के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक का पदभार दिनांक 7 सितंबर, 2021 (अपराह्‌न) के प्रभाव से ग्रहण किया है।

व्यवसाय प्रबंधन में स्नातकोत्तर के साथ मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक श्री सामिनाथन को केआईओसीएल लिमिटेड में लौह अयस्क खनन, बेनिफिसिएशन, पेलेटाइजेशन और पिग आयरन बनाने के क्षेत्र में 3 दशकों से अधिक का अनुभव है। उन्होंने केआईओसीएल में वर्ष 1986 में ग्रेजुएट इंजीनियर ट्रेनी के रूप में अपना करियर शुरू किया। प्रारंभिक अवधि के दौरान उन्होंने कुद्रेमुख खान, बेनिफिसिएशन संयंत्र में कार्य किया और क्रशर III की संस्थापना, क्रशर I का स्थानांतरण और अतिरिक्त बॉल मिलों की स्थापना जैसी परियोजनाओं को निष्पादित किया।  बाद में वह वर्ष 1992 में निगमित कार्यालय, बेंगलूरु पदस्थापित हो गए।

सीएमडी के सचिवालय में सीएमडी के तकनीकी अधिकारी के रूप में सेवा की और वर्ष 2009 में सामग्री विभाग में चले गए। निदेशक (वाणिज्य) के रूप में कार्यभार संभालने से पहले वह सामग्री और वाणिज्य दोनों प्रभागों के महाप्रबंधक (सामग्री) थे। उन्होंने टोलिंग अवधारणा लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है जिसके परिणामस्वरूप पैलेट प्लांट के क्षमता उपयोग में वृद्धि हुई है। उन्होंने टोलिंग की अवधारणा को लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई जिसके परिणामस्वरूप पैलेट प्लांट की क्षमता के उपयोग और कंपनी के भौतिक और वित्तीय प्रदर्शन में वृद्धि हुई है। उन्होंने आपूर्ति श्रृंखला और संभार-तंत्र (लॉजिस्टिक) की प्रणाली में सुधार किया है, जिसके परिणामस्वरूप लौह अयस्क फाइनों के पारवहन और संभलाई घाटे में कमी आई है। उनके द्वारा इन्वेंट्री होल्डिंग स्तर को नीचे लाया गया है। पूरे संगठन में जोखिम प्रबंधन नीति तैयार और कार्यान्वित कराई गई है। एमएसटीसी और जीईएम पोर्टल के द्वारा सेवा प्रदाता के माध्यम से ई-खरीद शुरू की गई है। श्री सामिनाथन इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैटेरियल्स मैनेजमेंट (आईआईएमएम) और इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मिनरल इंजीनियर्स (आईआईएमई) में आजीवन सदस्य हैं।